🪔कूष्मांडा माता जी की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Print Friendly, PDF & Email
3/5 - (2 votes)

कूष्मांडा माता जी की आरती (हिंदी) –

कूष्मांडा जय जग सुखदानी।
मुझ पर दया करो महारानी॥

पिंगला ज्वालामुखी निराली।
शाकंबरी मां भोलीभाली॥

लाखों नाम निराले तेरे।
भक्त कई मतवाले तेरे॥

भीमा पर्वत पर है डेरा।
स्वीकारो प्रणाम ये मेरा॥

सबकी सुनती हो जगदंबे।
सुख पहुंचाती हो मां अंबे॥

तेरे दर्शन का मैं प्यासा।
पूर्ण कर दो मेरी आशा॥

मां के मन में ममता भारी।
क्यों ना सुनेगी अरज हमारी॥

तेरे दर पर किया है डेरा।
दूर करो मां संकट मेरा॥

मेरे कारज पूरे कर दो।
मेरे तुम भंडारे भर दो॥

तेरा दास तुझे ही ध्याए।
भक्त तेरे दर शीश झुकाए॥

Kushmanda Mata Ji Ki Aarti, Hindi (English Lyrics) –

Kushmanda jai jag sukhdaani.
Mujh par daya karo maharani.

Pingala jwalamukhi niraali.
Shaakambri maan bholi-bhaali.

Lakhon naam niraale tere.
Bhakt kai matwaale tere.

Bhima parvat par hai dera.
Swikaaro pranaam ye mera.

Sabki sunti ho Jagdambi.
Sukh pahunchaati ho maan Ambi.

Tere darshan ka main pyaasa.
Poora kar do meri aasha.

Maan ke mann mein mamta bhaari.
Kyun na sunegi arz hamaari.

Tere dar par kiya hai dera.
Door karo maan sankat mera.

Mere kaaraj poore kar do.
Mere tum bhandaare bhar do.

Tera daas tujhe hi dhyaaye.
Bhakt tere dar sheesh jhukaaye.

हिंदी आरती संग्रह देखे – लिंक

चालीसा संग्रह देखे – लिक

स्त्रोत संग्रह देखे – लिंक

Leave a Comment