🪔 कार्तिकेय जी की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Print Friendly, PDF & Email
5/5 - (1 vote)

कार्तिकेय जी की आरती (हिंदी), kartik ji ki aarti lyrics in hindi, kartik ji ki aarti –

जय जय आरती
जय जय आरती वेणु गोपाला
वेणु गोपाला वेणु लोला
पाप विदुरा नवनीत चोरा

जय जय आरती वेंकटरमणा
वेंकटरमणा संकटहरणा
सीता राम राधे श्याम

जय जय आरती गौरी मनोहर
गौरी मनोहर भवानी शंकर
साम्ब सदाशिव उमा महेश्वर

जय जय आरती राज राजेश्वरि
राज राजेश्वरि त्रिपुरसुन्दरि
महा सरस्वती महा लक्ष्मी
महा काली महा लक्ष्मी

जय जय आरती आन्जनेय
आन्जनेय हनुमन्ता

जय जय आरति दत्तात्रेय
दत्तात्रेय त्रिमुर्ति अवतार

जय जय आरती सिद्धि विनायक
सिद्धि विनायक श्री गणेश

जय जय आरती सुब्रह्मण्य
सुब्रह्मण्य कार्तिकेय।

🪔 कार्तिकेय जी की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Kartikeya Ji Ki Aarti, Hindi (English Lyrics) –

Jai Jai Aarti
Jai Jai Aarti Venugopala
Venugopala Venulola
Paap Vidura Navneet Chora

Jai Jai Aarti Venkataramana
Venkataramana Sankataharana
Sita Ram Radhe Shyam

Jai Jai Aarti Gauri Manohar
Gauri Manohar Bhavani Shankar
Samb Sadashiv Uma Maheshwar

Jai Jai Aarti Raj Rajeshwari
Raj Rajeshwari Tripurasundari
Maha Saraswati Maha Lakshmi
Maha Kali Maha Lakshmi

Jai Jai Aarti Anjaneya
Anjaneya Hanumanta

Jai Jai Aarti Dattatreya
Dattatreya Trimurti Avatar

Jai Jai Aarti Siddhi Vinayak
Siddhi Vinayak Shri Ganesh

Jai Jai Aarti Subrahmanya
Subrahmanya Kartikeya.

https://shriaarti.in/

कार्तिकेय जी की आरती का सरल भावार्थ हिंदी & English –

Jai Jai Aarti: Victory, victory to the hymn
Jai Jai Aarti Venugopala: Victory, victory to Venugopala (another name for Lord Krishna)


Venugopala Venulola: One who holds a flute and plays enchanting melodies on it
Paap Vidura Navneet Chora: One who stole butter (Navneet) in childhood, but despite this mischievous act, he is the remover of sins (Paap Vidura).
Jai Jai Aarti Venkataramana: Victory, victory to Venkataramana (another name for Lord Vishnu)


Venkataramana Sankataharana: One who removes all the obstacles and difficulties of his devotees


Sita Ram Radhe Shyam: A prayer to Lord Rama, his consort Sita, and their names combined with Radha and Shyam, respectively.


Jai Jai Aarti Gauri Manohar: Victory, victory to Gauri Manohar (another name for Lord Shiva)


Gauri Manohar Bhavani Shankar: One who is dear to Goddess Parvati (Gauri) and is the husband of Bhavani (another name for Parvati)


Samb Sadashiv Uma Maheshwar: A prayer to Lord Shiva (Sadashiv), his consort Uma (another name for Parvati), and their names combined as Maheshwar.


Jai Jai Aarti Raj Rajeshwari: Victory, victory to Raj Rajeshwari (another name for Goddess Durga)


Raj Rajeshwari Tripurasundari: One who is the queen of queens and the most beautiful goddess who killed the demon Tripura.


Maha Saraswati Maha Lakshmi Maha Kali Maha Lakshmi: A prayer to Goddesses Saraswati, Lakshmi (in two forms), and Kali, who are all considered supreme and divine.


Jai Jai Aarti Anjaneya: Victory, victory to Anjaneya (another name for Lord Hanuman)
Anjaneya Hanumanta: One who is the son of Anjana and is called Hanumanta (the one with a broken chin).


Jai Jai Aarti Dattatreya: Victory, victory to Dattatreya (a combined form of the Hindu trinity, Brahma, Vishnu, and Shiva)


Dattatreya Trimurti Avatar: One who is an incarnation of the three gods of the Hindu trinity.


Jai Jai Aarti Siddhi Vinayak: Victory, victory to Siddhi Vinayak (another name for Lord Ganesha)


Siddhi Vinayak Shri Ganesh: One who is the lord of success and wisdom and is addressed as Shri Ganesh.


Jai Jai Aarti Subrahmanya: Victory, victory to Subrahmanya (another name for Lord Murugan or Kartikeya)


Subrahmanya Kartikeya: One who is the son of Lord Shiva and Parvati and is known as Kartikeya, the commander-in-chief of the gods.

कार्तिकेय जी की आरती का सरल भावार्थ हिंदी –

जय जय आरती: जय जय जय स्तुति


जय जय आरती वेणुगोपाल: विजय, वेणुगोपाल की जय (भगवान कृष्ण का दूसरा नाम)


वेणुगोपाल वेणुलोला: वह जो एक बांसुरी धारण करता है और उस पर मोहक धुन बजाता है


पाप विदुर नवनीत चोर: जिसने बचपन में माखन (नवनीत) चुराया था, लेकिन इस शरारतपूर्ण कृत्य के बावजूद वह पाप को हरने वाला (पाप विदुर) है।


जय जय आरती वेंकटरमण: जीत, वेंकटरमण की जीत (भगवान विष्णु का दूसरा नाम)


वेंकटरमण संकटहरण: वह जो अपने भक्तों की सभी बाधाओं और कठिनाइयों को दूर करता है


सीता राम राधे श्याम: भगवान राम, उनकी पत्नी सीता और उनके नामों को क्रमशः राधा और श्याम के साथ जोड़कर एक प्रार्थना।


जय जय आरती गौरी मनोहर: जय जय, गौरी मनोहर की जय (भगवान शिव का दूसरा नाम)


गौरी मनोहर भवानी शंकर: वह जो देवी पार्वती (गौरी) को प्रिय है और भवानी (पार्वती का दूसरा नाम) के पति है


सांब सदाशिव उमा महेश्वर: भगवान शिव (सदाशिव), उनकी पत्नी उमा (पार्वती का दूसरा नाम) और उनके नामों को मिलाकर महेश्वर के रूप में एक प्रार्थना।


जय जय आरती राज राजेश्वरी: जय जय, राज राजेश्वरी की जय (देवी दुर्गा का दूसरा नाम)


राज राजेश्वरी त्रिपुरसुंदरी: वह जो रानियों की रानी हैं और सबसे सुंदर देवी हैं जिन्होंने राक्षस त्रिपुरा का वध किया।


महा सरस्वती महा लक्ष्मी महा काली महा लक्ष्मी: देवी सरस्वती, लक्ष्मी (दो रूपों में), और काली, जो सभी सर्वोच्च और दिव्य मानी जाती हैं, के लिए एक प्रार्थना।


जय जय आरती अंजनेय: विजय, अंजनेया की जय (भगवान हनुमान का दूसरा नाम)


आंजनेय हनुमंता: वह जो अंजना का पुत्र है और उसे हनुमंता (टूटी हुई ठुड्डी वाला) कहा जाता है।


जय जय आरती दत्तात्रेय: विजय, दत्तात्रेय की जीत (हिंदू त्रिमूर्ति, ब्रह्मा, विष्णु और शिव का एक संयुक्त रूप)
दत्तात्रेय त्रिमूर्ति अवतार: वह जो हिंदू त्रिमूर्ति के तीन देवताओं का अवतार है।


जय जय आरती सिद्धि विनायक: विजय, सिद्धि विनायक की जय (भगवान गणेश का दूसरा नाम)


सिद्धि विनायक श्री गणेश: जो सफलता और ज्ञान के स्वामी हैं और उन्हें श्री गणेश के रूप में संबोधित किया जाता है।


जय जय आरती सुब्रह्मण्य: विजय, सुब्रह्मण्य की जीत (भगवान मुरुगन या कार्तिकेय का दूसरा नाम)


सुब्रह्मण्य कार्तिकेय: वह जो भगवान शिव और पार्वती के पुत्र हैं और देवताओं के सेनापति कार्तिकेय के रूप में जाने जाते हैं।

हिंदी आरती संग्रह देखे – लिंक

महत्वपूर्ण प्रश्न –

भगवान कार्तिकेय की पूजा कैसे करें?

भगवान कार्तिकेय की पूजा करने के लिए आप निम्नलिखित विधि का अनुसरण कर सकते हैं:
सामग्री:
भगवान कार्तिकेय की मूर्ति या तस्वीर
अगरबत्ती, दीपक, घी, कपूर, धूप, संगमरमर का चूर्ण, फूल, गुड़, दूध, जल
विधि:
सबसे पहले, आपको एक स्वच्छ और शुद्ध स्थान ढूंढ़ना होगा जहां आप पूजा कर सकते हैं।
अपने मन और शरीर को शुद्ध करने के लिए स्नान करें।
अपनी पूजा स्थल पर सामग्री को रखें।
एक अगरबत्ती जलाकर दीपक के सामने रखें।
धूप को जलाकर उसे पूजा स्थल के आस-पास घुमाएँ।
संगमरमर के चूर्ण को भगवान कार्तिकेय की मूर्ति पर छिड़कें।
फूलों का बोटा बनाएं और उसे मूर्ति के सामने रखें।
दूध और गुड़ का मिश्रण तैयार करें और उसे मूर्ति के सामने रखें।
जल के बर्तन से भगवान कार्तिकेय की पूजा करें।
अंत में, अपनी पूजा को पूरा करने के बाद अपने मन में भगवान कार्तिकेय को समरण करे और प्रणाम करे।

भगवान कार्तिकेय को क्या चढ़ाया जाता है?

भगवान कार्तिकेय को चढ़ाया जाने वाला चंदन, अखरोट, दूध, मिष्ठान्, पंचामृत, फूल, बिल्वपत्र, मक्खन आदि होते हैं। इनके अलावा, लोग शस्त्र और तांत्रिक मंत्रों का जप भी करते हैं। धर्मशास्त्रों के अनुसार, भगवान कार्तिकेय की पूजा के दौरान बहुत से लोग पूजा के बाद प्रसाद के रूप में दूध और मिष्ठान खाते हैं।
भगवान कार्तिकेय को चावल, दूध, घी, दही, शहद, लाल फूल, धातु के बर्तन, बेल पत्र, बेल फल, नारियल और ज्योति चढ़ाई जाती है। उन्हें चांदी और सोने के कवच भी चढ़ाए जाते हैं।

कार्तिकेय की पूजा कब की जाती है?

कार्तिकेय पूजा को भारत में विभिन्न रूपों में मनाया जाता है। भारत के विभिन्न हिस्सों में इस पूजा की तारीख भिन्न होती है।
हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को कार्तिकेय पूजा के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भगवान कार्तिकेय की पूजा के लिए विशेष विधि का अनुसरण किया जाता है।
इसके अलावा, कुछ लोग शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को भी कार्तिकेय पूजा के रूप में मनाते हैं।स्कंद षष्ठी, पौष पूर्णिमा, वैशाख पूर्णिमा और कार्तिक पूर्णिमा। इनमें से स्कंद षष्ठी भगवान कार्तिकेय की पूजा के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण तिथि मानी जाती है।

कार्तिकेय किसका अवतार है?

कार्तिकेय, जिन्हें स्कंद या मुरुगन भी कहा जाता है, हिन्दू धर्म में भगवान शिव और पार्वती के दूसरे पुत्र के रूप में जाना जाता है।वह स्वर्गलोक के सेनापति भी हैं । कार्तिकेय अपने वीरता और बल के लिए जाने जाते हैं।

Leave a Comment