🪔 श्री बालाजी महाराज की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Print Friendly, PDF & Email
5/5 - (1 vote)

श्री बालाजी महाराज की आरती (हिंदी), Shree Balaji Maharaj ki Aarti –

ॐ जय हनुमत वीरा,
स्वामी जय हनुमत वीरा ।
संकट मोचन स्वामी,
तुम हो रनधीरा ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

पवन पुत्र अंजनी सूत,
महिमा अति भारी ।
दुःख दरिद्र मिटाओ,
संकट सब हारी ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

बाल समय में तुमने,
रवि को भक्ष लियो ।
देवन स्तुति किन्ही,
तुरतहिं छोड़ दियो ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

कपि सुग्रीव राम संग,
मैत्री करवाई।
अभिमानी बलि मेटयो,
कीर्ति रही छाई ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

जारि लंक सिय-सुधि ले आए,
वानर हर्षाये ।
कारज कठिन सुधारे,
रघुबर मन भाये ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

शक्ति लगी लक्ष्मण को,
भारी सोच भयो ।
लाय संजीवन बूटी,
दुःख सब दूर कियो ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

रामहि ले अहिरावण,
जब पाताल गयो ।
ताहि मारी प्रभु लाय,
जय जयकार भयो ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

राजत मेहंदीपुर में,
दर्शन सुखकारी ।
मंगल और शनिश्चर,
मेला है जारी ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

श्री बालाजी की आरती,
जो कोई नर गावे ।
कहत इन्द्र हर्षित,
मनवांछित फल पावे ॥
॥ ॐ जय हनुमत वीरा..॥

श्री हनुमान जी की आरती,
श्री बालाजी महाराज की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Shree Balaji Maharaj Ki Aarti, Hindi (English Lyrics) –

Om Jai Hanumat Veera,
Swami Jai Hanuat Veera ।
Sankat Mochan Swami,
Tum ho Randhira ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥
Pawan Putra Anjani Sut,
mahima ati bhari ।
Dukh Daridra mitao,
Sankat sab hari ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Bal Samay Mein Tumne,
Ravi Ko Bhaksh Liyo ।
Devan Stuti Kinhee,
Turahin Chor Diyo ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Kapi Sugreev Ram Sang,
Maitri Karvai ।
Abhimani Bali Metyo,
Kirti Rahi Chai ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Jari Lank Siye Sudhi Le Aaye,
Vanar Harshaye ।
Karaj Kathin Sudhare,
Raghuvar Maan Bhaye ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Shakti Lagi Lakshman Ko,
Bhari Soch Bhayo ।
Lay Sanjivan Booti,
Dukh Sab Door Kiyo ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Ramahi Le Ahiravan,
Jabh Patal Gayo।
Tahi Mari Prabhu Lay,
Jai Jaikar Bhayo ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Rajat Memdhipur Mein,
Darshan Sukhkari ।
Mangal Aur Shanischar,
Mela Hai Jari ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

Shri Balaji Ki Aarti,
Jo Koi Nar Gave।
Kahat Indra Harshit,
Maan Vanchhit Phal Pave ॥
॥ Om Jai Hanumat Veera..॥

https://shriaarti.in/

श्री बालाजी महाराज की आरती का सरल भावार्थ हिंदी & English –

“Om, hail you, brave Hanuman,
O Hanuman, glory to you.
O Lord, you are the remover of troubles,
You are the epitome of bravery.”

“You are the son of Pawan and Anjani,
Your glory is limitless.
You remove sorrow and poverty,
You are the destroyer of all suffering.”

“As a child you used to consume the sun,
The gods praised you,
You released them immediately,
O Hanuman, glory to you.

“With the monkey king Sugriva and Lord Rama,
you made friends,
You defeated the arrogant Bali,
Your fame spread everywhere.

“You brought the news of Sita’s whereabouts from Lanka,
the monkeys are happy
You solved difficult tasks,
Lord Rama was pleased.

“Lakshmana was killed by a mighty weapon,
caused great concern,
You brought Sanjivani Booti,
All sorrow is gone.

“When Rama went to Patalaloka to fight Ahiravana,
you killed him
Lord was grateful
Vijay Ghosh echoed.

“In the city of Mehndipur,
Your sight gives me pleasure,
Auspiciousness and effect of Shani,
The fair continues.”

“Whoever sings aarti (devotional song) of Lord Balaji (Hanuman),
Indra himself declares,
His desired wish will be fulfilled.
Hail to you Hanuman.

श्री बालाजी महाराज की आरती का सरल भावार्थ हिंदी –

“ओम, आपकी जय हो, वीर हनुमान,
हे हनुमान, आपकी जय हो।
हे प्रभु, आप कष्टों का निवारण करने वाले हैं,
आप वीरता की प्रतिमूर्ति हैं।”

“आप पवन और अंजनी के पुत्र हैं,
आपकी महिमा अपरंपार है.
आप दुःख और दरिद्रता को दूर करें,
आप सभी कष्टों का नाश करने वाले हैं।”

“बचपन में तुम सूरज का सेवन करते थे,
देवताओं ने आपकी स्तुति की,
आपने उन्हें तुरंत रिहा कर दिया,
हे हनुमान, आपकी जय हो।”

“वानर राजा सुग्रीव और भगवान राम के साथ,
आपने मित्रता स्थापित की,
आपने अहंकारी बाली को हराया,
आपकी कीर्ति सर्वत्र फैल गयी।”

“आप लंका से सीता के ठिकाने की खबर लाए थे,
बंदर खुश हुए,
आपने कठिन कार्यों को हल किया,
भगवान राम प्रसन्न हुए।”

“लक्ष्मण को एक शक्तिशाली हथियार से मारा गया था,
बड़ी चिंता उत्पन्न हुई,
तुम संजीवनी बूटी ले आये,
सारा दुःख दूर हो गया।”

“जब राम अहिरावण से युद्ध करने के लिए पाताललोक गए,
तुमने उसे मार डाला,
प्रभु आभारी थे,
विजय घोष गूँज उठा।”

“मेंहदीपुर शहर में,
आपके दर्शन से सुख मिलता है,
शुभता एवं शनि का प्रभाव,
मेला जारी है।”

“जो कोई भगवान बालाजी (हनुमान) की आरती (भक्ति गीत) गाता है,
इंद्र स्वयं घोषणा करते हैं,
उनकी मनचाही इच्छा पूरी होगी।
आपकी जय हो हनुमान।”

हिंदी आरती संग्रह देखे – लिंक

Leave a Comment