🪔श्री भागवत भगवान जी की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Print Friendly, PDF & Email
5/5 - (1 vote)

श्री भागवत भगवान जी की आरती (हिंदी), shree bhagwat bhagwan ki aarti lyrics, shrimad bhagwat bhagwan ki aarti lyrics, aarti shri bhagwat bhagwan ki, bhagwat puran ki aarti –

श्री भगवत भगवान की है आरती,
पापियों को पाप से है तारती।

ये अमर ग्रन्थ ये मुक्ति पन्थ,
ये पंचम वेद निराला,
नव ज्योति जलाने वाला।
हरि नाम यही हरि धाम यही,
यही जग मंगल की आरती
पापियों को पाप से है तारती॥
॥ श्री भगवत भगवान की है आरती…॥

ये शान्ति गीत पावन पुनीत,
पापों को मिटाने वाला,
हरि दरश दिखाने वाला।
यह सुख करनी, यह दुःख हरिनी,
श्री मधुसूदन की आरती,
पापियों को पाप से है तारती॥
॥ श्री भगवत भगवान की है आरती…॥

ये मधुर बोल, जग फन्द खोल,
सन्मार्ग दिखाने वाला,
बिगड़ी को बनानेवाला।
श्री राम यही, घनश्याम यही,
यही प्रभु की महिमा की आरती
पापियों को पाप से है तारती॥
॥ श्री भगवत भगवान की है आरती…॥

श्री भगवत भगवान की है आरती,
पापियों को पाप से है तारती।

।। इति भागवत आरती समाप्त ।।

Shri Bhagwat Bhagwan Ji Ki Aarti, Hindi (English Lyrics) –

Shri Bhagwat Bhagwan ki hai aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Ye amar granth ye mukti panth,
Ye pancham ved nirala,
Nav jyoti jalane wala.
Hari naam yahi, Hari dham yahi,
Yahi jag mangal ki aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Ye shanti geet pavitra punit,
Papon ko mitane wala,
Hari darsh dikhane wala.
Yeh sukh karni, yeh dukh harini,
Shri Madhusudan ki aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Ye madhur bol, jag phand khole,
Sanmarg dikhane wala,
Bigdi ko banane wala.
Shri Ram yahi, Ghanashyam yahi,
Yahi Prabhu ki mahima ki aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Shri Bhagwat Bhagwan ki hai aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

श्री भागवत भगवान जी की आरती (हिंदी) सरल भावार्थ –

श्री भागवत भगवान जी की आरती (English) सरल भावार्थ –

  1. Shri Bhagwat Bhagwan ki hai aarti, Papiyon ko pap se hai tarati. Translation: This is the Aarti (Hymn of worship) of Lord Bhagwat, it liberates sinners from their sins.
  2. Ye amar granth ye mukti panth, Ye pancham ved nirala, Nav jyoti jalane wala. Translation: This is the eternal scripture, the path of liberation, unique from the five Vedas, and illuminating the nine flames.
  3. Hari naam yahi, Hari dham yahi, Yahi jag mangal ki aarti, Papiyon ko pap se hai tarati. Translation: This is the only name of Lord Hari and his abode, the hymn of the world’s welfare, and it liberates sinners from their sins.
  4. Ye shanti geet pavitra punit, Papon ko mitane wala, Hari darsh dikhane wala. Translation: This is a sacred song of peace, it destroys sins and shows the vision of the Lord.
  5. Yeh sukh karni, yeh dukh harini, Shri Madhusudan ki aarti, Papiyon ko pap se hai tarati. Translation: This hymn of Shri Madhusudan (another name for Lord Krishna) brings happiness and removes sorrows and it liberates sinners from their sins.
  6. Ye madhur bol, jag phand khole, Sanmarg dikhane wala, Bigdi ko banane wala. Translation: This sweet language opens the knot of the world and shows the right path, it also sets the wrong things right.
  7. Shri Ram yahi, Ghanashyam yahi, Yahi Prabhu ki mahima ki aarti, Papiyon ko pap se hai tarati. Translation: This is the hymn of the glory of Lord Ram and Ghanashyam (another name for Lord Krishna), and it liberates sinners from their sins.
  8. Shri Bhagwat Bhagwan ki hai aarti, Papiyon ko pap se hai tarati. Translation: This is the Aarti of Lord Bhagwat and it liberates sinners from their sins.

श्री भागवत भगवान जी की आरती (हिंदी) सरल भावार्थ –

श्री भागवत भगवान की है आरती पापियों को पाप से है तराती। अनुवाद: यह भगवान भागवत की आरती (पूजा का स्तोत्र) है, यह पापियों को उनके पापों से मुक्त करती है।

ये अमर ग्रंथ ये मुक्ति पंथ, ये पंचम वेद निराला, नव ज्योति जलाने वाला। अनुवाद: यह सनातन शास्त्र है, मुक्ति का मार्ग है, पाँच वेदों से अद्वितीय है, और नौ ज्वालाओं को प्रकाशित करता है।

हरि नाम यही, हरि धाम यही, यही जग मंगल की आरती, पापियों को पाप से है तराती। अनुवाद: यह भगवान हरि का एकमात्र नाम और उनका धाम है, जो विश्व के कल्याण का स्तोत्र है और यह पापियों को उनके पापों से मुक्त करता है।

ये शांति गीत पवित्र पुनीत, पापोन को मिटने वाला, हरि दर्श दिखाने वाला। अनुवाद: यह शांति का पवित्र गीत है, यह पापों को नष्ट करता है और भगवान के दर्शन को दर्शाता है।

ये सुख करनी, ये दुख हरिणी, श्री मधुसूदन की आरती, पापियों को पाप से है तराती। अनुवाद: श्री मधुसूदन (भगवान कृष्ण का दूसरा नाम) का यह स्तोत्र सुख देता है और दुखों को दूर करता है और यह पापियों को उनके पापों से मुक्त करता है।

ये मधुर बोल, जग फंद खोले, सन्मार्ग दिखाने वाला, बिगड़ी को बनाने वाला। अनुवाद:- यह मधुर भाषा संसार की गांठ खोलकर सही रास्ता दिखाती है, गलत चीजों को भी ठीक कर देती है।

श्री राम यही, घनश्याम यही, यही प्रभु की महिमा की आरती, पापियों को पाप से है तराती। अनुवाद: यह भगवान राम और घनश्याम (भगवान कृष्ण का दूसरा नाम) की महिमा का स्तोत्र है, और यह पापियों को उनके पापों से मुक्त करता है।

श्री भागवत भगवान की है आरती पापियों को पाप से है तराती। अनुवाद: यह भगवान भागवत की आरती है और यह पापियों को उनके पापों से मुक्त करती है।

हिंदी आरती संग्रह देखे – लिंक

महत्वपूर्ण प्रश्न –

भगवान भागवत की आरती क्या है?

भगवान भागवत की आरती भगवान भागवत को समर्पित पूजा का एक भजन है, जो भगवान कृष्ण का दूसरा नाम है।

भगवान भागवत की आरती का क्या महत्व है?

माना जाता है कि भगवान भागवत की आरती पापियों को उनके पापों से मुक्त करती है और सुख और शांति लाती है।

“पापियों को पाप से है तराती” मुहावरे का क्या अर्थ है?

इस वाक्यांश का अर्थ है कि आरती पापियों को उनके पापों से मुक्त करती है।

Leave a Comment